उसने मेरी चूत को अब चोद चोदकर भोसड़ा बना दिया

 
loading...

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम कनिका है और में हरयाणा की रहने वाली हूँ। दोस्तों में सेक्सी की बहुत भूखी हूँ, लेकिन एक रंडी नहीं और मेरी यह आज की कहानी मेरी पराए मर्द से पहली चुदाई की एक घटना है। दोस्तों में अब 42 साल की हूँ और संजीव जीजाजी 58 साल के है और मेरे फिगर का साईज 44-40-48 है। मेरी लम्बाई 5 फीट 7 इंच है और संजीव 6 फीट 1 इंच लंबे चौड़ी छाती और थोड़ी मोटे है, लेकिन बहुत अच्छे स्वभाव के है। दोस्तों अब में आप सभी को मेरा पहला सेक्स अनुभव बताती हूँ। यह मेरा सेक्स संजीव से कैसे शुरू हुआ? दोस्तों बात 1996 की है तब में 25 साल की थी। उन दिनों मेरे पति भी आर्मी में थे तभी उनको कुछ बीमारी लग गई और वो बहुत ज्यादा बीमार हो गये और तब ज्यादा मोबाइल नहीं होते थे। तभी मुझे टेलिग्राम से यह मैसेज मिला और में बहुत घबरा गई और मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा था। में बस रो रही थी और सोच रही थी कि कैसे अपने पति के पास उनसे मिलने जाऊँ? क्योंकि सफ़र बहुत लंबा था और अंजान था। उसी टाईम मेरे घर पर अपनी पत्नी के साथ संजीव मतलब मेरे जीजाजी आ गये मुझसे मिलने ( यानी मेरी मुहं बोली बहन के साथ ) तो मुझे रोते देखकर उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या बात है तुम रो क्यों रही हो? तो मैंने उनको सब बता दिया।
उस समय संजीव भी आर्मी में थे और वो मुझसे बोले कि इसमें रोने की क्या बात है अगर तुम्हे उससे मिलना है तो चल में तुम्हे वहां पर लेकर चलता हूँ। फिर दीदी ने ही मुझे कुछ सात्वना दी और उन्होंने मेरे घर पर बात करके मेरे भाई को बुला लिया और मेरे भाई ने मेरे साथ जाने के बजाए संजीव को मेरे साथ ले जाने के लिए बोला और मेरे दोनों बच्चों को वो अपने साथ गावं ले गया। फिर उसी रात को संजीव मेरे पास रहे और सुबह हम लोग एक प्राइवेट बस से दिल्ली आ गये और फिर वहाँ हमने ट्रेन में फर्स्ट क्लास में सीट बुक करवा ली और रात को दस बजे हमारी ट्रेन चली और टिकिट चेक होने के बाद संजीव ने दरवाजा बंद करके मुझे ऊपर सुला दिया और खुद नीचे सो गये और बस यही सफर मेरे लिए पहली पराए मर्द से सेक्स की वजह बन गया। रात को मुझे नींद नहीं आ रही थी और संजीव सो गये थे। शायद वो सोने का नाटक कर रहे थे।
तभी में बाथरूम जाने के लिए नीचे उतरी तो मैंने देख कि संजीव का लंड एकदम तना हुआ है और खंबे की तरह खड़ा है। में उनका लंड देखकर एकदम हैरान हो गई और मन ही मन सोचने लगी कि इतना बड़ा लंड आदमी का कैसे हो सकता है? मैंने बहुत बार चाहा लेकिन मेरी नज़र संजीव के लंड पर से हट ही नहीं रही थी। उनके लंड को बेड शीट के नीचे से देखकर ही मेरी चूत गीली हो रही थी, लेकिन अब तक में किसी पराए मर्द से चुदी नहीं थी तो इसलिए में आगे नहीं बड़ पा रही थी और फिर जैसे तैसे करके में बाथरूम में चली गई और जब में वहां से वापस आई तो मैंने देखा कि उनका लंड अब भी वैसे ही तना हुआ है और अब में बहुत डरते डरते हुए उनकी सीट पर बैठ गई और बहुत हिम्मत करके उनकी आँखों में आंखे डालकर देखने लगी कि तभी वो मुझसे बोले..
संजीव : क्यों कनिका नींद नहीं आ रही क्या? वो मेरे उनके पास बैठते ही बोले।
में : जी हाँ, मुझे नींद नहीं आ रही, थोड़ा डर लग रहा है, लेकिन दोस्तों पता नहीं उनकी क्या हालत होगी?
फिर संजीव मेरा हाथ पकड़ते हुए बोले कि डर लग रहा है तो एक काम करो थोड़ा पानी पी लो, मैंने थोड़ा पानी पिया और उसी बीच मैंने महसूस किया कि वो मुझसे थोड़ा और सटकर बैठ गए और फिर हम कुछ इधर उधर की बातें करने लगे। दोस्तों तब मैंने महसूस किया कि संजीव ने अपना लंड मेरी गांड से बिल्कुल सटा रखा था और मुझे अच्छा भी लग रहा था, लेकिन में उनसे कुछ कह नहीं पा रही थी। तभी इतने में एक स्टेशन आ गया। वहाँ पर संजीव ने दो कप चाय ली और फिर हमने चाय पी और उस समय रात के करीब दो बज रहे थे। फिर चाय पीने के बाद संजीव ने मुझसे कसम देकर पूछा कि कनिका क्या तू मुझे एक बात सच सच बताएगी?
में : हाँ अगर मुझे पता है तो में आपको जरुर बताउंगी।
संजीव : तू अभी कुछ देर पहले क्या देख रही थी? क्यों तुझे अच्छा लगा क्या? सच बोलना प्लीज़ अगर तुझे अच्छा लगा तो में तुझे और भी मज़ा दूँगा और अगर नहीं लगा तो में कुछ नहीं कहूँगा?
दोस्तों यह बात कहकर संजीव ने मेरा एक हाथ अपने हाथों में लेकर ज़ोर से दबा दिया और थोड़ा मुस्कुराते हुए मेरी तरफ देखने लगे। फिर जैसे तैसे करके मैंने कहा कि हाँ मुझे अच्छा लगा तो बस फिर क्या था संजीव मेरे ऊपर लट्टू हो गये? और अब उन्होंने मुझे अपनी गोदी में कैच कर लिया। फिर में एकदम से उनके ऐसा करने से बहुत आश्चर्यचकित हो गई क्योंकि वो मुझे अपनी छाती पर ज़ोर से दबाने लगे और जिसकी वजह से मेरी छाती उनकी छाती से दब रही थी और मुझमें एक अजीब सा अहसास ला रही थी और मेरे बदन पर उनकी पकड़ बहुत मजबूत थी और अब संजीव मेरे बूब्स को दबाने लगे और मेरी चूत को मसलने लगे और मेरे कपड़े उतारने लगे और फिर वो खुद भी नंगे हो गये और अब उनका लंबा, मोटा, तना हुआ लंड मेरी आँखों के सामने उछल रहा था। फिर उन्होंने मुझे अपनी बाहों में लेकर अब सीट पर लेटा दिया और फिर मेरी चूत को चाटने लगे। दोस्तों वैसे तो मेरे पति ने भी मेरी चूत बहुत बार चाटी थी, लेकिन आज मुझे चूत चटवाने का असली मज़ा संजीव से आया। मैंने उनके कुछ देर चाटने के बाद पानी छोड़ दिया और तब संजीव ने मुझसे अपना लंड चुसवाया और में उनके लंड का टोपा अंदर बाहर करके उनका लंड चूस रही थी। मुझे उनका लंड पूरा मुहं में लेने में दिक्कत हो रही थी क्योंकि उनका लंड बहुत मोटा था। वो बहुत मुश्किल से मेरे मुहं के अंदर जा रहा था, लेकिन उतनी ही आसानी से मेरे हलक में पहुंच रहा था और ज्यादा लंबा होने की वजह से मुझे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी और मेरी आँखों से आंसू बाहर आने लगे थे।
फिर करीब कोई दो पांच मिनट लंड को चूसने के बाद संजीव ने मुझको खिड़की के सहारे घोड़ी बना दिया और अब एक बार मेरी चूत चाटकर एक ही ज़ोर के धक्के में अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया और अब में दर्द होने की वजह से बहुत ज़ोर से चीखने चिल्लाने लगी थी और अपनी चूत को आगे की तरफ करके लंड को बाहर निकालने की नाकाम कोशिश करने लगी, लेकिन संजीव की मजबूत पकड़ और मेरी चूत में फंसे हुए लंड से में थोड़ा भी आगे नहीं बढ़ सकी और अब वो मोटा और सख्त लंड मेरी चूत में लगातार आगे पीछे होने लगा था, लेकिन अब जल्दी ही मुझे भी बहुत मज़ा आने लगा और में सिसकियाँ लेने लगी उफफफफ्फ़ अहाह्ह्ह्हह्ह हाँ और ज़ोर से चोदो जीजू उुईईईईईईइ माँ मेरी चूत को और ज़ोर से मारो अहह्ह्हह्ह्ह्ह संजीव में गई। फिर कुछ देर की चुदाई के बाद संजीव ने मेरी चूत में अपना वीर्य डाल दिया और फिर वो कुछ देर वैसे ही मेरी चूत में अपना लंड रखकर रुक गया और उसके कुछ देर बाद संजीव ने मेरी चूत से अपना लंड बाहर निकाला और मेरी चूत को साफ किया और अपना लंड भी साफ किया। फिर हम दोनों एक ही सीट पर पूरे नंगे बैठकर एक दूसरे की बाहों में आकर प्यार करने लगे और चूमने चाटने लगे। फिर उस पूरी रात को दूसरी सुबह तक हमने करीब तीन बार जमकर सेक्स किया। मुझे उसकी चुदाई में बहुत मज़ा आया और फिर में अपने कपड़े पहनकर बहुत थककर गहरी नींद में सो गई, लेकिन संजीव नहीं सोए और दोपहर को जब में नींद से उठी तो मैंने देखा कि ट्रेन एक स्टेशन पर खड़ी हुई थी और संजीव ने खाना मँगवाया और ख़ाना खाकर हम दोनों फिर से सो गये। उस रात को फिर से एक बार मेरी उस ट्रेन में बहुत जमकर चुदाई हुई और इस तरह से में संजीव से चुदते हुए अपने पति के पास पहुँच गई और वहां से वापसी में भी हमने दो बार बहुत मस्त चुदाई की और उसके बाद जब तक मेरे पति जॉब पर रहे में कभी उनके साथ नहीं गई, में बस छुट्टियों में ही उनसे चुदवाती और बच्चों की पढ़ाई का बहान करके में उनकी गैरमोजूदगी में संजीव से बहुत मस्त चुदवाती रही और बहुत बार संजीव ने मुझे अपने फार्म हाउस में भी अपने साथ ले जाकर वहां पर चोदा है और मैंने उसकी चुदाई के बहुत मज़े लिए और हर कभी कोई अच्छा मौका देखकर उससे चुदवाती रही और एक बार बरसात में भीगते हुए भी संजीव से मेरी चुदाई हुई। उसने मेरी चूत को अब चोद चोदकर पूरी तरह से भोसड़ा बना दिया।



loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. April 1, 2017 |

Online porn video at mobile phone


HD mein BF sexy Barsa Khoon nikalne lagta hai Faujisisterxxxstorihindikhandani chudui ka silsilaAntravasanasexstori.comkheto me tubal pe Desi HD xxx videoreecha.chda.bara.xxxl.penty churata pakda maa na sex storyatravasana ke satorechudaikestoreलडकी.क.फिटा.dexxxy2 साल की बहन और 20 साल का भैसा सेकसी विडियेशेकशी काहानी सागामेरी वर्जिन बुर में घुसा दियाDidi Please bra Dekhne Doगदि चुदाइ कि कहानि लङकियो व औरतो किजानवर कि चुदाइबडे boobs चूसकर चुदाई भाई बहनचिदाई कि कमवालीAntrvasnasexstoriesmajedar bahan ki chudai ki kahni hindishalu ka apne pati k marne k baad sasur k sath sexy kahanixxxvxx desi pani girnewalaमस्तराम की कहानियो मे पत्नियों की चुदाई गैर मर्दों सेantarvasna meri chut suuj gyiकूँवारी सेकसी बिडियो कममममी की देरानी को चोदा xnxx काहानीKamukta biwi ka doodh piyaआनलाई चुत की चुदाई हिदीं आवाज मे बिडीयाव साडी मे २०१७_२०१८Bas or Safar me XXX kahanikamukta holi festival me group fucking stories in hindi fondwww.रंडी की रफ़ चुदाई कहानी रो रही थी हिंदी मेंDaver na bhabie ke chudike sixybeti ne pelavaya kahaneexxxxx vvvvv eeeer auntyreal masi ur bete ki chudaiCouple sex videosHindiseskahani. ComYoutube audio sexystory Behan ki choot ko khata kapde utaar karxvedomamaniXxx pure 3gante filmsalwar kameej wali ladki ki bhayanak chudai kahaniAntrvasna बहन बनी दोस्तो की सामूहिक रंडीFuck kahaniyan jabrdstiHindi sexy Kahani in chudaimajaराजशर्म की चुदाईकी कहानियांVasna hindi sex stori maa ke sath dhobiमेडम का चुदाइ का बिडियौgauki rasili chutpyasi mosi ko gadhe jeisa land se choda kahaniग्रुप मे जबरजास्ती 4 लंडको ने बडे बडे लंड से चोदा हिंदी सेक्स स्टोरीकूँवारी सेकसी बिडियोकोमww,xxxhindihdxxx desi aantiki ratbhar chudai sexy videoxxx meri vidva maa ko mere sasurji mere gr aakr maa ko jetji ne soda sci sudai khani hindi meWww harmi bete ne chut me land dala antarvasna.comAntervasna per Didi ne bra ko Utara bhai ke samneKAMVSNA ANTERVSNA GROUP SEXpadose dede sex kahaneWww dot videos six मडम की चुदाईwww.khani k codi coda xxxbra dabava boysexXxx ma ki gano ki kahanikale admine bus me choda chudai storysarita ki kamukta kahaninxxxmastchudakaad maa ki cbudaai gaalio seantrabasna saje dedechod chod ke bhosda banado meri chut kamuktaभोली भाली लडकी सेक्स कथाmoshi nai sonai ka natk kr k chudi krvaiVIDEOS.WWW.बुरचिकनी Indin lugaai ki cote bacese cudaai full hd.comपंजाबी आंटि कि चूतzavazavi bf and gf selpack sex xxx marathi kathaनानी कि फटी चुत चोदी चुत चुदाई कि काहानीxxx hinde wraiting storisट्रैन में हुई सामूहिक चुदाई रुला देने वालीDidi sexstoiहिलाना सिखाया hindi sex story