मम्मी के साथ ग्रुप चुदाई



loading...

दोस्तों, मेरा नाम है जन्नत खान है और मेरी माँ का नाम है मिसेस सबीना हम दोनों दोस्त बन कर रहती है . एक दूसरे के सामने नंगी रहती है . एक दूसरे के सामने भकाभक चुदवाती है . एक दूसरे की बुर में लण्ड पेलती है . लण्ड अदल बदल कर चुदवाती है . कभी कभी लण्ड एक साथ मिलकर चूसती हूँ . मैं बड़ा मज़ा करती हूँ माँ के साथ और माँ भी खूब एन्जॉय करती है मेरे साथ . माँ मेरे लिए “लन्ड” लाती है और मैं माँ के लिए “लन्ड” लाती हूँ . ऐसा कैसे हुआ ? कब हुआ ? इसकी एक लम्बी कहानी है . फिर कभी मौका मिलेगा तो आपको सुनाऊंगी . अभी तो देखो कोई दरवाजा खटखटा रहा है . मैं खोल कर देखती हूँ की कौन है ? हां हां दरवाजा खोल कर बुर खोल कर नहीं ?
दोस्तों, मैं जानती हूँ की इस समय आपका हाथ आपके “लन्ड” पर होगा . आपका “लन्ड” खड़ा है .टन टना रहा है मेरी कहानी पढ़ कर . तो फिर पूरा मज़ा लीजिये न ? कमरे का दरवाजा बंद कर दो और पूरे नंगे होकर पढो मेरी सच्ची कहानी . तुम्हे भी मज़ा आएगा और तुम्हारे “लन्ड” को भी . अगर कोई मिले तो चोदना भी शुरू कर सकते हो ? यदि आप पढ़ रही है तो आपका हाथ चूंची पर होगा या फिर चूत पर आप खूब मज़ा कीजिये और कोई साथी ढूंढ लीजिये . अपने पति को साथ लेकर सेक्स कीजिये . पति न हो तो बॉय फ्रेंड का साथ लीजिये . जवानी का मज़ा पूरा लीजिये . मेरे पास कई सन्देश आये है . जिन लोगों ने सेक्स करना छोड़ दिया था वे मेरी कहानी पढ़ पढ़ कर फिर से सेक्स करने लगे है . लोगों के “लन्ड” दुगुना खड़े होने लगे है . बड़े सख्त ही जाते है “लन्ड” मेरी कहानियां पढ़ कर .
हां तो मैंने जैसे ही दरवाजा खोला तो देखा की मेरे सामने अनवर अंकल खड़े है . हां हां वही अनवर अंकल जिनसे मैं अभी अभी चुदवा कर आयी हूँ . जिसके “लन्ड” के बारे में मैंने आपको बताया ? मेरी माँ को अंकल के “लन्ड” का बड़ा इंतज़ार था . अब मैं माँ को बुलाकर अंकल से मिलवा देती हूँ . मैंने अंकल को बैठाया और माँ को आवाज़ दी . माँ आ गयी . मैंने कहा अनवर अंकल ये है मेरी माँ सबीना और माँ ये है अनवर अंकल जिनके “लन्ड” के बार में मैंने तुम्हे बताया है . अंकल को भी भोषडा चोदने का शौक है . मैंने इसीलिए इसे यहाँ बुलाया है . अम्मी मुझे यकीं है की तुम्हे अंकल का “लन्ड” जरुर पसंद आएगा ? आज तेरे भोषडा को सही सही पता चलेगा की “लन्ड” क्या होता है ?
मेरी माँ बोली :- अरी मेरी जन्नत बिटिया मैंने इतनी बड़ी ज़िन्दगी में सैकड़ों “लन्ड” देखे है . जाने कितने “लन्ड” मेरी चूत की सैर कर चुके है .सैकड़ों तरह के “लन्ड” मुझे चोद चुके है . हां पर हर एक “लण्ड” का अपना अलग ही मज़ा होता है . आज मैं अनवर के “लन्ड” का मज़ा लूंगी . माँ ने अंकल के “लन्ड” पर हाथ रख कहा . अंकल की लुंगी के अन्दर हाथ दाल दिया माँ ने . अंकल लुंगी के अन्दर कुछ भी पहन कर नहीं आया था . माँ का हाथ सीधे अंकल के “लन्ड” से टकरा गया . माँ ने फ़ौरन लुंगी की गाँठ खोली तो “लन्ड” फनफना कर बाहर आ गया .
माँ बोली :- हाय अल्ला, इतना बड़ा “लन्ड” मेरी बेटी की बुर में घुसा था ? बाप रे बाप ये आदमी का “लन्ड” है की घोड़े का “लन्ड” ? अरी जन्नत मैं तेरी बुर की तारीफ करूंगी . जिस बुर ने इतने बड़े “लन्ड” को अपने अन्दर पेलव लिया वह कोई छोटी मोटी बुर नहीं है . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
बड़ी सालिड बुर है मेरी बेटी की और ऐसी बुर बड़ी नसीब वालों को देता है खुदा ?
माँ झुकी और “लन्ड” चूमने लगी . तब तक मैंने माँ के सारे कपडे उतार दिया . माँ बिलकुल नंगी हो गयी और अंकल भी बिलकुल नंगे हो चुके थे . इतने में फिर किसी ने दरवाजा खटखटाया . मैंने खोला तो देखा की सामने दो जवान लड़के खड़े है . मैंने उनके ना पूंछे और माँ से कहा माँ साजिद और इकरार आये है . माँ ने कहा उन्हें अन्दर बुला लाओ . ये दोनों तुम्हे चोदने आये है जन्नत ? तेरी चूत आज रात इनके लिए बुक है . मैंने उन्हें अन्दर बुला लिया . वे दोनों आ गए माँ ने मुझे इशारा किया तो मैं ट्रे लेकर कमरे में आ गए उसमे पांच पैग शराब थी . एक अंकल के लिए, एक माँ के लिए दो साजिद और इकरार के लिए और एक मेरे लिए . हम सबने एक एक पैग एक ही बार में पी लिया .
माँ बोली :- साजिद और क्या पियोगे ?
साजिद :- अब मैं जन्नत की चूंची पियूँगा
इकरार :- और मैं जन्नत की चूत पियूँगा .
वे दोनों मेरी ओर लपके और मुझे देखते ही देखते सबके सामने नंगी कर दिया . साजिद मेरी दोनों चूचियां मसलने लगा और इकरार मेरी चूत चाटने लगा . थोड़ी देर में मैंने उन दोनों को आमने सामने ऐसा लिटा दिया की लंड के सामने लन्ड और पेल्हड़ से पेल्हड़ हो गए . मैंने झुक कर दोनों लन्ड अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया . मैं लन्ड मुठीयाने लगी . कभी यह लन्ड कभी वह लन्ड चूमने लेगी चाटने लगी . उधर अनवर अंकल मेरी गांड सहलाने लगा . माँ उसका लन्ड पी रही थी . अंकल दूसरे हाथ से माँ की भोषडा सहला रहा था . मैंने देखा की सजिद और इकरार के लन्ड बहुत सख्त है . अंकल का लन्ड बड़ा जरुर है लेकिन इतना सख्त नहीं है . थोड़ी देर के बाद मैं घूम गयी और साजिद के लन्ड पर बैठ गयी . लन्ड मेरी बुर में घुस गया और कूद कूद कर चुदाने लगी . इकरार का लन्ड हाथ में लेकर चाटने लगी . इकरार मेरे सामने खड़ा था और खड़ा था उसका लन्ड मेरे मुह में सामने . इकरार भोषड़ी का बीच बीच में लन्ड मेरे मुह में पेल देता था . जैसे की मुह नहीं चूत हो . उधर अंकल ने भी लन्ड मेरी माँ के भोषडा में पेल रखा था . मैं माँ के सामने चुद रही थी और माँ मेरे सामने चुद रही थी . जवानी का असली मज़ा हम पाँचों लेने में जुटे थे . दो चूत और तीन लन्ड का अनोखा खेल चल रहा था . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | इतने में इकरार ने मुझे अपने लन्ड पर बैठा लिया और मैं साजिद का लन्ड चूसने लगी . उधर सकील अंकल माँ को कुत्ते की तरह पीछे से चोदने लगा .मैंने फिर पैंतरा बदला मैं घूम कर इकरार के लन्ड पे बैठ गयी . मैंने अपनी गांड उठा दी और चुदाने लगी . फिर मैंने साजिद से कहा की तुम मेरी पीछे से गांड मारो . मैं गांड और बुर एक साथ चुदवाने लगी . फचर फचर फच्च फच्च गच्च गच्च भच्च भच्च की आवाजें कमरे में गूँज रही थी . मेरे सामने मेरी माँ सकील अंकल के लन्ड पर बैठ कर चुदवा रही थी धचा धच्च, गचा गच्च, इस झमाझम चुदाई के सारा कमरा महक उठा . लन्ड और चूत की स्मेल से और जोश बढ़ रहा था .
माँ बोली :- हां यार, जन्नत तू तो बड़ी चुदककड़ हो गयी है री ? बड़े बड़े लन्ड गप्प कर जाती है . तेरी बुर तो गधे का भी लन्ड खा जायेगी .?
मैंने कहा :- हां यार सबीना तेरी भोषड़ी का माँ का भोषडा, साला इतना बड़ा सकील का लन्ड खा गया और डकार तक नहीं ली . ऐसा भोषडा तो खाला का भी नहीं है . बुआ का भी भोषडा इतना मस्त नहीं है . तुझे तो लन्ड का बड़ा तजुर्बा है . तेरी गांड भी लन्ड के लिए मुह उठाये रहती है .
माँ बोली :- हां यार, गांड हो चाहे बुर, चूंची हो चाहे मुह हर जगह लन्ड की जरुरत पड़ती है .पहली चुदाई ख़तम हुई सबने खूब मज़ा लिया . अब मेरी माँ की निगाह साजिद और इकरार के लन्ड पर टिक गयी . मैं समझ गयी माँ दूसरी पारी में इन दोनों से चुदवाना चाहती है . हम सब लोग नंगे ही थे . हमने नंगे नंगे ही डिनर लेना शुरू किया .
सकील :- सबीना भाभी, मुझे तेरा भोषडा चोदने में बड़ा मज़ा आया . तेरी बेटी जन्नत भी बिलकुल इसी तरह चुदवाती है . दोनों की चूत मुझे ज़न्नत का मज़ा देती है . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
माँ बोली :- हाय अल्ला, सकील मेरे देवर राजा तेरा लौड़ा तो खुदा ने इत्मीनान से बनाया है . इतना बड़ा और मोटा लन्ड बहुत कम लोगों का होता है . मैं तो तेरे लन्ड की दीवानी हो गयी हूँ .
इतने में पीछे से एक आवाज़ आयी :- अरे भाभी, मेरे भी देवर का लन्ड पकड़ कर देखो ? बिलकुल सकील भाई जान के लन्ड की तरह लगता है . मैं बड़ी देर से सकील का लन्ड देख रही हूँ . मुझे साजिद और इकरार के भी लन्ड पसंद आ गए है .
माँ बोली :- अरी अमीना तू ऊपर से कैसे आ गयी . क्या दरवाजा खुला रह गया था ? ( अमीना मेरे घर में एक किरायेदार है )
अमीना आंटी :- अरे भाभी, चुदवाने के नाम जब बुर खुल जाती है ये तो दरवाजा ही है . जब लन्ड सामने होता है तो हम बुर वाली सब कुछ भूल जाती है . तुम कहो तो भाभी मैं अपने देवर को बुला लूं . अब तुम उससे चुदवा कर देखो . लन्ड पसंद न आये तो मेरी गांड पर लात मार कर मुझे भगा देना .
मैंने कहा :- आंटी, तुम्हे अपने देवर के लन्ड पर इतना गुमान है ?
आंटी :- हां जब तुम उसके लन्ड को अपनी बुर में पेलोगी तो तुम भी गुमान करोगी .
मैंने कहा :- अच्छा तो बोलो आंटी बदले में तुम किसका लन्ड लोगी ?
अमीना आंटी :- मैं इन तीनो के लन्ड बारी बारी से लूंगी . तुम चिता न करो मैं तुम्हे दुगुना मज़ा लन्ड दे सकती हूँ . मेरे पास विदेशी लन्ड भी है आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | बात तय हो गयी हम सब अमीना आंटी की बात मान गए . करीब आधे घंटे के बाद मैंने देखा की अमीना आंटी एकदम नंगी नंगी अपने देवर का लन्ड हाथ से पकडे हुए हमारी ओर आ रही है . मेरी नज़र उसके लन्ड पर पड़ी तो वाकई मेरी आँखे खुली की खुली रह गयी . लन्ड एकदम चिकना ? बहुत बड़ा लन्ड ? सकील अंकल के लन्ड से भी बड़ा लग रहा था . चार इंच का तो सुपाड़ा ही था लगभग . एकदम टन टनाता हुआ लन्ड मेरे सामने आकर खड़ा हो गया . मेरा हाथ सीधे लन्ड पर चला गया . नंगी तो मैं थी ही . सभी लोग नंगे थे . हम सबको नंगे देख कर उसका लन्ड और जोश में आ गया . साला बहन चोद लन्ड जोश में अपनी मुंडी हिलाने लगा . आपे से बाहर हुआ जा रहा था लन्ड . मैं हैरान थी की इंसान का इतना बड़ा लन्ड भी हो सकता है क्या ?
मेरी माँ बोली :- हाय अमीना गज़ब है तेरे देवर के लन्ड जैसा लन्ड मैंने आज तक नहीं देखा ? यार क्या खाता है इसका लन्ड ? आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
अमीना आंटी :- तेरी ऐसी औरतों का भोषडा खाता है और जन्नत ऐसी लड़कियों की चूत ?
मैंने कहा :- आंटी, लगता है की इसकी माँ ने किसी गधे से चुदवाया होगा तभी इतने बड़े लन्ड वाला आदमी पैदा हो गया ?
अमीना आंटी :- यार कुछ भी हो मज़ा तो हम लोगों को आएगा न ?
बस मैं उसके लन्ड पर जुट गयी . उसका सुपाड़ा चाटने लगी . मेरे साथ मेरी माँ भी लन्ड चाटने लगी . उधर अमीना आंटी सकील अंकल का लन्ड सहलाने लगी और साजिद व् इकरार के लन्ड मुह में लेकर चाटने लगी . इस तरह रात भर हुई चोदा चोदी | तो कैसी लगी हमारी स्टोरी आप मुझे ईमेल कर सकते है : [email protected]



loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. May 21, 2017 |

Online porn video at mobile phone


bus me girls ki chadi me ungali dali hindi storeythreesome dost our may biwi ka pragnant keya hindi sex story.comsaram hokar ho chudaiसबेरे सबेरे मा की चुदाईvideos ledike ki fudi me kese ungli karteDil Ki Pehli Baar seal Tut gayi sexy videoमम पापै एंड में हिंदी सेक्स कहानीxxxxbhabiki chodi hiहिदी ठोका बीडिओhinde sex pte bchi mama ka videoxnxxचुदाइ की कहानियाkitchan mai sex poran kehanihindesixy.comxxx hot didi chudai storiyaपचर चतू किall bad saxstories in hindiसभी चाची मौसी की बड़ी laund se ki सेक्स कठिन stroies choudiBACHPAN KE KHEL KHEL KI CHUDAI ME SEAL TUTI SEX STORY IN HINDIक्सक्सक्स देसी बहन की चुदाई बैग में स्टोरी इन हिंदीwww xxxx vidro बिहार पटना गाव खेत मे खेत मेsalwar kamej min suhagrat sax riylsix khani didi ki zabani urdubeti ko sharab pilake ckoda kahaniSABUN LAGAI KAHANIभाभी को चौदा बुर 89.comrandio ka pariwar maa desi kahanigalti se bhabi kau chuda videoxxxx indene video dever bhbhiaसेक्सी कहानीय्risheta m chudei hindi all khanixxx video ma ke sotahua chudae hinde maदेसी चुद वीडीओ sex हीदी आडीओचाँदनी का बुर टोयलेट मेmuslim.bhabhi.ki.chadi.me.khun.lag.gyaRead free desi sex stori bahabi ki moti gand marisexsi kahaniya hindi mehindikhanisexy.com.देसी रणडी चूदाई की कहानिया ओर विडियोनई व ताजा पूषपा भाभी देवर के सेकसी कहानीयाXXXX.JULI.BHABHI.STORYstory of andhere me bus yatra me jabran chodamere chote lund ne aunty ko kiya mahosh Hindi sex kahanixxx kahni khet mammy ancldidi ko uske sasural me jake chodaxxxbp marthi sex and hindeme jim karne vale hendsame devar se chud gai hone vali bhabhi hindi kahaniyaguru ghantal letest kahaniya antarvasna.comhindi aunty ki jubani sex kahaniजीजा जी जोर से चोदो धीरे से कान मे कहा xxx kahanimom ne bhabi se chudyaa khet me group Gujarati sex stories चोदयी कैसे की जाती है लिक आये हिदी मेchudayiki sex kahaniya. indian sex stories com. antarvasna com/tag/page no 77--120--222--372--384वीवी की चुदाईchudaikahanimabetabhabhi ki lambe land se jabarjsati xxx videosxxxcudai ke kahani hindekamkuta story -commeri choot faadi kheere seantarvasna mery badi bahan rakhimastram comhindisaxi storysex nangi khaani geeta aunty ko jee bhr ke chodaधोखे से कमरे में बुलाकर चुदाई की हिंदी कहानियांजबरदस्ती चुदाई की कहानीचुदाई मे खून gad marne ki storyesantervasana papa roj muje chodate haiभाई मामी क्सक्सक्सbrsat me truck me rndi bni khanixxx.vay.bahan.ref.gar.me.kahani.hindimeri randi bahu ko khet men choda kahani.comjanwar ko choda kahanibae bhn sex all storinoker ne bra di hendi saxye khaneyama ke samne papa aur bhai ne choda blackmail kar keparty me bulakar boss ne sex kiaनौकर नौकरानी फुल सेक्सी स्टोरी फुल नंगी तस्वीरें साथ में स्टोरी सेक्सीहिन्दी मे xnxx 107 साल कीsexc rone girl land chutभाभि कि सेकसि पिचर कुवारिHindi cudai ki kahanikuari randi ki cudai