मम्मी के साथ ग्रुप चुदाई

 
loading...

दोस्तों, मेरा नाम है जन्नत खान है और मेरी माँ का नाम है मिसेस सबीना हम दोनों दोस्त बन कर रहती है . एक दूसरे के सामने नंगी रहती है . एक दूसरे के सामने भकाभक चुदवाती है . एक दूसरे की बुर में लण्ड पेलती है . लण्ड अदल बदल कर चुदवाती है . कभी कभी लण्ड एक साथ मिलकर चूसती हूँ . मैं बड़ा मज़ा करती हूँ माँ के साथ और माँ भी खूब एन्जॉय करती है मेरे साथ . माँ मेरे लिए “लन्ड” लाती है और मैं माँ के लिए “लन्ड” लाती हूँ . ऐसा कैसे हुआ ? कब हुआ ? इसकी एक लम्बी कहानी है . फिर कभी मौका मिलेगा तो आपको सुनाऊंगी . अभी तो देखो कोई दरवाजा खटखटा रहा है . मैं खोल कर देखती हूँ की कौन है ? हां हां दरवाजा खोल कर बुर खोल कर नहीं ?
दोस्तों, मैं जानती हूँ की इस समय आपका हाथ आपके “लन्ड” पर होगा . आपका “लन्ड” खड़ा है .टन टना रहा है मेरी कहानी पढ़ कर . तो फिर पूरा मज़ा लीजिये न ? कमरे का दरवाजा बंद कर दो और पूरे नंगे होकर पढो मेरी सच्ची कहानी . तुम्हे भी मज़ा आएगा और तुम्हारे “लन्ड” को भी . अगर कोई मिले तो चोदना भी शुरू कर सकते हो ? यदि आप पढ़ रही है तो आपका हाथ चूंची पर होगा या फिर चूत पर आप खूब मज़ा कीजिये और कोई साथी ढूंढ लीजिये . अपने पति को साथ लेकर सेक्स कीजिये . पति न हो तो बॉय फ्रेंड का साथ लीजिये . जवानी का मज़ा पूरा लीजिये . मेरे पास कई सन्देश आये है . जिन लोगों ने सेक्स करना छोड़ दिया था वे मेरी कहानी पढ़ पढ़ कर फिर से सेक्स करने लगे है . लोगों के “लन्ड” दुगुना खड़े होने लगे है . बड़े सख्त ही जाते है “लन्ड” मेरी कहानियां पढ़ कर .
हां तो मैंने जैसे ही दरवाजा खोला तो देखा की मेरे सामने अनवर अंकल खड़े है . हां हां वही अनवर अंकल जिनसे मैं अभी अभी चुदवा कर आयी हूँ . जिसके “लन्ड” के बारे में मैंने आपको बताया ? मेरी माँ को अंकल के “लन्ड” का बड़ा इंतज़ार था . अब मैं माँ को बुलाकर अंकल से मिलवा देती हूँ . मैंने अंकल को बैठाया और माँ को आवाज़ दी . माँ आ गयी . मैंने कहा अनवर अंकल ये है मेरी माँ सबीना और माँ ये है अनवर अंकल जिनके “लन्ड” के बार में मैंने तुम्हे बताया है . अंकल को भी भोषडा चोदने का शौक है . मैंने इसीलिए इसे यहाँ बुलाया है . अम्मी मुझे यकीं है की तुम्हे अंकल का “लन्ड” जरुर पसंद आएगा ? आज तेरे भोषडा को सही सही पता चलेगा की “लन्ड” क्या होता है ?
मेरी माँ बोली :- अरी मेरी जन्नत बिटिया मैंने इतनी बड़ी ज़िन्दगी में सैकड़ों “लन्ड” देखे है . जाने कितने “लन्ड” मेरी चूत की सैर कर चुके है .सैकड़ों तरह के “लन्ड” मुझे चोद चुके है . हां पर हर एक “लण्ड” का अपना अलग ही मज़ा होता है . आज मैं अनवर के “लन्ड” का मज़ा लूंगी . माँ ने अंकल के “लन्ड” पर हाथ रख कहा . अंकल की लुंगी के अन्दर हाथ दाल दिया माँ ने . अंकल लुंगी के अन्दर कुछ भी पहन कर नहीं आया था . माँ का हाथ सीधे अंकल के “लन्ड” से टकरा गया . माँ ने फ़ौरन लुंगी की गाँठ खोली तो “लन्ड” फनफना कर बाहर आ गया .
माँ बोली :- हाय अल्ला, इतना बड़ा “लन्ड” मेरी बेटी की बुर में घुसा था ? बाप रे बाप ये आदमी का “लन्ड” है की घोड़े का “लन्ड” ? अरी जन्नत मैं तेरी बुर की तारीफ करूंगी . जिस बुर ने इतने बड़े “लन्ड” को अपने अन्दर पेलव लिया वह कोई छोटी मोटी बुर नहीं है . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
बड़ी सालिड बुर है मेरी बेटी की और ऐसी बुर बड़ी नसीब वालों को देता है खुदा ?
माँ झुकी और “लन्ड” चूमने लगी . तब तक मैंने माँ के सारे कपडे उतार दिया . माँ बिलकुल नंगी हो गयी और अंकल भी बिलकुल नंगे हो चुके थे . इतने में फिर किसी ने दरवाजा खटखटाया . मैंने खोला तो देखा की सामने दो जवान लड़के खड़े है . मैंने उनके ना पूंछे और माँ से कहा माँ साजिद और इकरार आये है . माँ ने कहा उन्हें अन्दर बुला लाओ . ये दोनों तुम्हे चोदने आये है जन्नत ? तेरी चूत आज रात इनके लिए बुक है . मैंने उन्हें अन्दर बुला लिया . वे दोनों आ गए माँ ने मुझे इशारा किया तो मैं ट्रे लेकर कमरे में आ गए उसमे पांच पैग शराब थी . एक अंकल के लिए, एक माँ के लिए दो साजिद और इकरार के लिए और एक मेरे लिए . हम सबने एक एक पैग एक ही बार में पी लिया .
माँ बोली :- साजिद और क्या पियोगे ?
साजिद :- अब मैं जन्नत की चूंची पियूँगा
इकरार :- और मैं जन्नत की चूत पियूँगा .
वे दोनों मेरी ओर लपके और मुझे देखते ही देखते सबके सामने नंगी कर दिया . साजिद मेरी दोनों चूचियां मसलने लगा और इकरार मेरी चूत चाटने लगा . थोड़ी देर में मैंने उन दोनों को आमने सामने ऐसा लिटा दिया की लंड के सामने लन्ड और पेल्हड़ से पेल्हड़ हो गए . मैंने झुक कर दोनों लन्ड अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया . मैं लन्ड मुठीयाने लगी . कभी यह लन्ड कभी वह लन्ड चूमने लेगी चाटने लगी . उधर अनवर अंकल मेरी गांड सहलाने लगा . माँ उसका लन्ड पी रही थी . अंकल दूसरे हाथ से माँ की भोषडा सहला रहा था . मैंने देखा की सजिद और इकरार के लन्ड बहुत सख्त है . अंकल का लन्ड बड़ा जरुर है लेकिन इतना सख्त नहीं है . थोड़ी देर के बाद मैं घूम गयी और साजिद के लन्ड पर बैठ गयी . लन्ड मेरी बुर में घुस गया और कूद कूद कर चुदाने लगी . इकरार का लन्ड हाथ में लेकर चाटने लगी . इकरार मेरे सामने खड़ा था और खड़ा था उसका लन्ड मेरे मुह में सामने . इकरार भोषड़ी का बीच बीच में लन्ड मेरे मुह में पेल देता था . जैसे की मुह नहीं चूत हो . उधर अंकल ने भी लन्ड मेरी माँ के भोषडा में पेल रखा था . मैं माँ के सामने चुद रही थी और माँ मेरे सामने चुद रही थी . जवानी का असली मज़ा हम पाँचों लेने में जुटे थे . दो चूत और तीन लन्ड का अनोखा खेल चल रहा था . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | इतने में इकरार ने मुझे अपने लन्ड पर बैठा लिया और मैं साजिद का लन्ड चूसने लगी . उधर सकील अंकल माँ को कुत्ते की तरह पीछे से चोदने लगा .मैंने फिर पैंतरा बदला मैं घूम कर इकरार के लन्ड पे बैठ गयी . मैंने अपनी गांड उठा दी और चुदाने लगी . फिर मैंने साजिद से कहा की तुम मेरी पीछे से गांड मारो . मैं गांड और बुर एक साथ चुदवाने लगी . फचर फचर फच्च फच्च गच्च गच्च भच्च भच्च की आवाजें कमरे में गूँज रही थी . मेरे सामने मेरी माँ सकील अंकल के लन्ड पर बैठ कर चुदवा रही थी धचा धच्च, गचा गच्च, इस झमाझम चुदाई के सारा कमरा महक उठा . लन्ड और चूत की स्मेल से और जोश बढ़ रहा था .
माँ बोली :- हां यार, जन्नत तू तो बड़ी चुदककड़ हो गयी है री ? बड़े बड़े लन्ड गप्प कर जाती है . तेरी बुर तो गधे का भी लन्ड खा जायेगी .?
मैंने कहा :- हां यार सबीना तेरी भोषड़ी का माँ का भोषडा, साला इतना बड़ा सकील का लन्ड खा गया और डकार तक नहीं ली . ऐसा भोषडा तो खाला का भी नहीं है . बुआ का भी भोषडा इतना मस्त नहीं है . तुझे तो लन्ड का बड़ा तजुर्बा है . तेरी गांड भी लन्ड के लिए मुह उठाये रहती है .
माँ बोली :- हां यार, गांड हो चाहे बुर, चूंची हो चाहे मुह हर जगह लन्ड की जरुरत पड़ती है .पहली चुदाई ख़तम हुई सबने खूब मज़ा लिया . अब मेरी माँ की निगाह साजिद और इकरार के लन्ड पर टिक गयी . मैं समझ गयी माँ दूसरी पारी में इन दोनों से चुदवाना चाहती है . हम सब लोग नंगे ही थे . हमने नंगे नंगे ही डिनर लेना शुरू किया .
सकील :- सबीना भाभी, मुझे तेरा भोषडा चोदने में बड़ा मज़ा आया . तेरी बेटी जन्नत भी बिलकुल इसी तरह चुदवाती है . दोनों की चूत मुझे ज़न्नत का मज़ा देती है . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
माँ बोली :- हाय अल्ला, सकील मेरे देवर राजा तेरा लौड़ा तो खुदा ने इत्मीनान से बनाया है . इतना बड़ा और मोटा लन्ड बहुत कम लोगों का होता है . मैं तो तेरे लन्ड की दीवानी हो गयी हूँ .
इतने में पीछे से एक आवाज़ आयी :- अरे भाभी, मेरे भी देवर का लन्ड पकड़ कर देखो ? बिलकुल सकील भाई जान के लन्ड की तरह लगता है . मैं बड़ी देर से सकील का लन्ड देख रही हूँ . मुझे साजिद और इकरार के भी लन्ड पसंद आ गए है .
माँ बोली :- अरी अमीना तू ऊपर से कैसे आ गयी . क्या दरवाजा खुला रह गया था ? ( अमीना मेरे घर में एक किरायेदार है )
अमीना आंटी :- अरे भाभी, चुदवाने के नाम जब बुर खुल जाती है ये तो दरवाजा ही है . जब लन्ड सामने होता है तो हम बुर वाली सब कुछ भूल जाती है . तुम कहो तो भाभी मैं अपने देवर को बुला लूं . अब तुम उससे चुदवा कर देखो . लन्ड पसंद न आये तो मेरी गांड पर लात मार कर मुझे भगा देना .
मैंने कहा :- आंटी, तुम्हे अपने देवर के लन्ड पर इतना गुमान है ?
आंटी :- हां जब तुम उसके लन्ड को अपनी बुर में पेलोगी तो तुम भी गुमान करोगी .
मैंने कहा :- अच्छा तो बोलो आंटी बदले में तुम किसका लन्ड लोगी ?
अमीना आंटी :- मैं इन तीनो के लन्ड बारी बारी से लूंगी . तुम चिता न करो मैं तुम्हे दुगुना मज़ा लन्ड दे सकती हूँ . मेरे पास विदेशी लन्ड भी है आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | बात तय हो गयी हम सब अमीना आंटी की बात मान गए . करीब आधे घंटे के बाद मैंने देखा की अमीना आंटी एकदम नंगी नंगी अपने देवर का लन्ड हाथ से पकडे हुए हमारी ओर आ रही है . मेरी नज़र उसके लन्ड पर पड़ी तो वाकई मेरी आँखे खुली की खुली रह गयी . लन्ड एकदम चिकना ? बहुत बड़ा लन्ड ? सकील अंकल के लन्ड से भी बड़ा लग रहा था . चार इंच का तो सुपाड़ा ही था लगभग . एकदम टन टनाता हुआ लन्ड मेरे सामने आकर खड़ा हो गया . मेरा हाथ सीधे लन्ड पर चला गया . नंगी तो मैं थी ही . सभी लोग नंगे थे . हम सबको नंगे देख कर उसका लन्ड और जोश में आ गया . साला बहन चोद लन्ड जोश में अपनी मुंडी हिलाने लगा . आपे से बाहर हुआ जा रहा था लन्ड . मैं हैरान थी की इंसान का इतना बड़ा लन्ड भी हो सकता है क्या ?
मेरी माँ बोली :- हाय अमीना गज़ब है तेरे देवर के लन्ड जैसा लन्ड मैंने आज तक नहीं देखा ? यार क्या खाता है इसका लन्ड ? आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
अमीना आंटी :- तेरी ऐसी औरतों का भोषडा खाता है और जन्नत ऐसी लड़कियों की चूत ?
मैंने कहा :- आंटी, लगता है की इसकी माँ ने किसी गधे से चुदवाया होगा तभी इतने बड़े लन्ड वाला आदमी पैदा हो गया ?
अमीना आंटी :- यार कुछ भी हो मज़ा तो हम लोगों को आएगा न ?
बस मैं उसके लन्ड पर जुट गयी . उसका सुपाड़ा चाटने लगी . मेरे साथ मेरी माँ भी लन्ड चाटने लगी . उधर अमीना आंटी सकील अंकल का लन्ड सहलाने लगी और साजिद व् इकरार के लन्ड मुह में लेकर चाटने लगी . इस तरह रात भर हुई चोदा चोदी | तो कैसी लगी हमारी स्टोरी आप मुझे ईमेल कर सकते है : [email protected]



loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. May 21, 2017 |

Online porn video at mobile phone


गांव की परिवार की सामूहिक चुदाईSasur ne bahuka chut phadkar chodaGunde ne ek ldki k sath buri trh jbrdsti porn nonveg storyट्रैन में हुई सामूहिक चुदाई रुला देने वालीविदेशीSex हिडीओpornkhanibhabhiXnxx एक दिन बिती हुई विडीयोjor jor se ahh ahh chilane ki hot sexy kahaniमालकिनचुदाईकहानीsexykahanixxxkiदेशी चुत खेत मे फाटीरिश्तो मे चूदाइ गाओ मेbata na apni xxx 3gp hidijabardasth gand chudai sax pornpadhos ko rat me choda ghrpe sexy xxnxwww.sexy indian marathi sauteli maa ki chud ko aur gaand mari bete neपहले मेरी जबरन सामुहिक चुदाई हुई फिर मर्जी से चुदवाया चुदाई कहानीसेकसि जाणवर कि चुदाई Zookhatrnak mard k sath gay gand chudai ki kahani antarvasnaमारवाड़ी चुदाईbktrade.ru story hindiwww.xx.videos.दरब भाभीचालु सेकसी विधवा भाभीAnterwashna hindi sex story waygra bahan ko jabardast pakad karchudai ki kahani mastram.comWw xxx कहानी सफर में बहन की चुदाई हिंदीXxxy Rehana Anti ki kahaniNaukrani bhayankar chudhi dard bhari hinde sex kahani Virginantarwasna doctor se bhuaadesi randi mom rekha storyGhir me akeli girl baithisex ke kaise lai केशरियचुदाईफोटुsex chut chodai kahaniजेठानी की चुदाई और वो भी ट्रेन में चाची की बुर में लंडtdpti.anti.kamuktamadarchod bete ne ki samuhik chudai sexy storiesलड कि गाठ कानीयाँjabardasth gand chudai sax pornवहु ने ससुर का लड हिलायी विडीयोHot sex kahani.malik nokarani sex vidiyobhabi nanab saxy hinadi kahaniबुरफाराbhabhi ne mere se wisper mangayaxxxxगाव।भाभी।।चाचा।सेxxx didi ke sasural me chudaixxnx hath ji nokri vरीमा ज्योति मगर sex xxx hdChodandesi 3gpkiray ke makan mai didi ki chudai hindi kahaaunty ko rakhel banaya kahaniबहिन कि चूत चोदी तेल मालिष seसैकशि काहानियॉMatlabi aunty ki jamkar gand mariwww.lands sex coll nabarx xxu.xxuxi.com Kahun nikalne balajbrjsti jngal jbri dost xxx hindi me sachchi kahani.माँ बहन के साथ रोमांस कामुकताwww.lands sex coll nabarxxx maa bahan ke saath suhagraat manaya kahani hindi meमन्दिर मे पुजारी से चुदवाया सेक्सी कहानीHindisexystroenanhi bur mastram net.पंजाबी आंटि कि चूतbeti ne pelavaya kahaneeSab ladkiya chodela coaching XX videomaaki chodachodi sexybf movieBhikhari ne jawan ladki ki seal todi Hindi sex kahaniyaदेसी बुआ की लड़की कंचन ने मुझे मुठ मरते देखा सेक्स स्टोरी इन हिंदी मेंfamily Ghar Ke dusre ko choda Ke Samne chup chup kar xxxbpमानस बडा सैकसि करता ह बडि आटि कैसाkachi dehati dardbhare xxxchudai se aurat banaya saheli ne hapsi ka landxxx karishma chuadai ki kahani mast padne hindiनानाकी चोदाईsex story barsat ki raat vidhwa ki chudaiHindi movie pati garh per nahi frand na choda porn Antarbasna malkinbiyutiful desi mal porn vidioAntarvasna injections dardस्लीपिंग वर्जिन बुआ की चुदाई की हिंदी कहानियांadla badli ya sajish chudai kahanisexy ghanv ki rat akele antrvasna sexy kahani bhai mummy papa.sexkahani mahima bur fadchudai sex kahanXxx khaneya Hindiदीदी उईईईईई sex storybhai ki sasural me bahan ko nye lund mile ek mahine tk hindi sexi kahanidesi katiki sex commastram ki kahani rajai me khala ki gand mari